Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Saturday, November 7, 2015

ऑफिस में रखे इन बातो का ध्यान !

SHARE
            
कभी कभी अपनी जॉब के दौरान अक्सर हमको ऐसे दिनों का सामना भी करना पड़ता है कि जब हम अपना कार्य पूरी मेहनत के साथ कर रहे होते हैं और अच्छा रिजल्ट भी  कम्पनी को देते हैं, लेकिन फिर भी हमारे द्वारा किये गए कार्य को नोटिस नहीं किया जाता है , उसको महत्व नहीं दिया जाता।  जरा सोचिये की कैसा महसूस करते हैं हम अपने इन क्षणों में ?


Keywords:Points to be remember at Workplace in hindi, Important facts for career growth in hindi, 10 important things necessary for career growth in hindi
यदि हमारे साथ ऐसा होता है तो यह हमारे करियर की प्रगति में  में अड़चन साबित हो  सकता है।  इसलिए जिस संस्थान में , जिस  कंपनी में हम जॉब करते हैं, वहा हमको जॉब करते समय स्पष्ट कम्युनिकेशन पर विशेष ध्यान देना होगा।  हमे कोशिश यह  कोशिश करनी होगी की हमारे दवरा किये कार्य और उसके अच्छे परिणाम को अनदेखा न किया जाये।  

प्रोफेशनल माहौल में काम करते समय हमको इस बात का विशेष ध्यान रखना चहिये कि दूसरो के साथ बात करते समय हमारे संवाद  में  विन्रमता  होनी चाहिए।  साथ ही साथ यह भी ध्यान रखना चाहिए कि हमारे संवाद से किसी की  भावनाओ को तो ठेश नहीं पहुंच रही है।  .


हमको अनावश्यक बातचीत में खुद को व्यस्त नहीं करना चाहिए हो सके तो इनको अनदेखा और अनसुना करना चाहिए। यदि  आपके पास कोई बेहतर आईडिया है जो आपकी कंपनी और आपकी पर्सनल ग्रोथ में सहायक हो लेकिन अगर आप आईडिया को लेकर  स्पष्ट संवाद नहीं कर सकते तो यह आपके करियर की प्रगति में एक अड़चन है इसलिए अपने आईडिया को कुशलतापपूर्वक म विन्रम रूप से पेश करे।  

कर्मचारियों के बीच स्पष्ट  और असरदार संवाद  कार्य  माहौल को विश्वसनीय एवं स्वस्थ बनाये रखता है। यदि कंपनी में  आपके साथ का कोई कर्मचारी आपसे मदद के लिए कहता है तो उसको मना न करे,  उसकी मदद  करे।  यदि  आप ऐसा करते हैं तो जल्द ही वही लोग जरूरत पड़ने पर आपकी भी मदद करेंगे।  

यदि आपको आपके कार्य के अच्छे परिणामो के कारण  भी अनदेखा किया जा रहा है और ऐसे कर्मचारियों को महत्व दिया जा रहा है जो आपकी अपेक्षा काम मेहनत  करते हैं या जिनका कार्य परिणाम सही नहीं है  तो आप अपनी बात को तर्क सहित , कुशलतापूर्पक ,विन्रम रूप से मैनेजमेंट के अधिकारियों के समक्ष रक सकते हो। लेकिन बेहतर होगा की ऐसा करते समय आप केवल अपने कार्य और उसके परिणामो को सामने रखे , दूसरो का जिकर न करे।  यदि आपका कार्य कठिन है या आप उसमे विफल हो तो निराश न हो फिर से कोशिश करें। 

4 comments:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, आज का पंचतंत्र - ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  2. सुन्दर रचना .................

    ReplyDelete
  3. very interesting article. Thanks Manoj.

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts