Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Saturday, August 15, 2015

प्यारा भारत, देश हमारा !

SHARE
 सभी देशवाशियो को स्वंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाये !

15 अगस्त सन 1947 को हमारा देश आजाद हुआ। तब से अब तक इतने साल गुजर गए।  इन सालो में बढ़ते समय के साथ साथ जहा एक और हमने कला , विज्ञान , साहित्य ,  अंतरिक्ष , टेक्नोलॉजी ,चिकत्सा ,परमाणु शक्ति , सशक्त वायु , थल  और जल सेना बल , कृषि एवं अन्य उधोग के क्षेत्र में तरक्की तो की लेकिन वही दूसरी ओर हम अपने बढ़ते  स्वार्थ , इच्छाओ को पूरा करने के लिए,  अपनी मानवता एवं नैतिक मूल्यों  को खो बैठे हैं। 

लूट मार , चोरी , भ्रिस्टाचार का हर तरफ बोलबाला है। नेताओ ने भ्रिस्टाचार के  नए नए लीबाज पहन लिए हैं।   पहले जनता को झूठे झूठे वादे करके वोट लेकर सत्ता हासिल कर लेते हैं और  सत्ता में आने के बाद उन किये गए वादो को पूरा करने की जगह उनको जुमलों का नाम देकर जनता को बेवकूफ बना रहे हैं। आज माहौल इतना ख़राब हो चूका है कि  हमारा सामाज भेडियो से भरा पड़ा है।  एक दुसरे की मदद की जगह एक दूसर से नफरत करने में लगे हैं। इंसान इंसान को काट रहा है।




देश को आजादी दिलाने की लिए जिन्होंने अपना बलिदान दिया अगर उनको पता होता की हम आगे चलकर ऐसा करेंगे , तो शायद हम आज भी अंग्रेजो की गुलाम होते। बापू के  त्याग को हमने भुला दिया , उनका मजाक बनाते हैं ओर बची हुयी  कसर  कुछ नेता पूरी कर रहे हैं  उस महान आत्मा स्वर्गीय मोहनदास कर्मचन्द गांधी को भारत की लोगो की दिलो से मिटाने के लिए। शायद  दोगले नेता भूल गए हैं कि अहिंसा की मूरत गांधी को लोगो के दिलो से कभी  नही मिटा पायेगे, भले ही आप कितने ही हिन्दू मुस्लिम दंगे क्यों न कर वा ले। 


बचपन में स्कूल में एक गीत गाते थे कितना प्यार गीत था वह -

यह देश हमारा है , हमको अति प्यारा  है !
इस धरती को हमने माँ कहकर पुकारा है !! 

ये ऊच नीच झगडे की दीवार तोड़ देंगे !
विपरीत वही जो धारा , वह धार मोड़ देंगे !!
लहू से शहीदो  ने सींचा  है सवारा  है !
यह देश हमारा है ,हमको अति प्यारा  है !!

हम सबको उठाएंगे , सीने से लगायेगे !
जो हमसे बिछड़े हैं , उनको अपनाएंगे !!
धरती का प्यार भर ले, वह अपना प्यारा है !
यह देश हमारा है, हमको अति प्यारा है !!
इस धरती को हमने माँ कहकर पुकारा है !!!


आज स्वन्त्रता दिवस के अवसर पर अपने देशवासियो से यही विनती करुगा कि  हम हिन्दू , मुस्लिम , सिख ईसाई बाद में हैं, पहले हम भारतवासी हैं।  इसलिए इन नेताओ के  चक्कर  में न पड़े ये अपनी राजनितिक रोटी सेकने कि लिए हमको लड़वाते आये हैं।  हमको लड़ना नही बल्कि सही कार्यो के लिए एक दुसरे की मदद करनी हैं ,एक दुसरे के दुःख  दर्द में काम आना है। अपने काम काज पर ध्यान देना है ईमानदारी से ,इन नेताओ की बातो में आओगे तो कभी कोई भलाई का काम कर ही नहीं सकते। इसलिए बेहतर है इनको महत्व न दे अपने अपने काम पर ध्यान दे ओर एक दुसरे के दुःख दर्द में काम आते हुए, नैतिक मूल्यों महत्व देते हुए  सुख  शान्ति कि साथ अपना जीवन यापन करे, देश हित में कार्य करे।  



अंत में सभी शहीदो को  शत शत नमन। 

जय हिन्द, जय भारत !!

1 comment:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (16-08-2015) को "मेरा प्यार है मेरा वतन" (चर्चा अंक-2069) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    स्वतन्त्रतादिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts