Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Friday, July 31, 2015

क्या मिशन "स्किल इंडिया" काफी है जॉब दिलाने के लिए ?

SHARE
 केंद्र में भारी बहुमतो  से जीत के साथ साथ भाजपा सरकार का एक सौभाग्य यह भी रहा है ,कि वर्तमान जो  योजनाये केंद्र में  भाजपा की सरकार ला रही है।  उनमे से कुछ योजनाओ का आईडिया उनको केंद्र में पिछली कांग्रेस  सरकार की देन है।  अगर वर्तमान की बात करे तो  "स्किल इंडिया" योजना का सपना पूर्व प्रधानमन्त्री माननीय मनमोहन सिंह जी ने देखा था। वह  कांग्रेस सरकार के समय पर इस योजना को मूर्त रूप देने के लिए प्रारूप  तैयार कर रहे थे , लेकिन चुनाव में कांग्रेस को हार मिली। 


Keywords:Mission Skill India in Hindi, Pradhanmantri Kaushal Vikas Yojna in hindi, Skill Loan Scheme in Hindi,Skill India in Hindi, Detail of Mission Skill India in Hindi
चलो कोई नहीं, अगर योजना सही है, देश हित में है तो उसको जरूर आगे बढ़ाना  चाहिए। अगर भाजपा ने इस योजना का श्रेय अपने सर ले लिए तो क्या हुआ कम से कम यह योजना वर्तमान प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी के निर्देशन में योजना साकार तो हो गयी।  इसी तरह अगर हम उस समय की बात करें जब पी.वी.नर सिंघा  राव जी प्रधानमंत्री थे ,तो उन्होने अपने कार्यकाल में परमाणु परीक्षण के लिए वैज्ञानिको से सारी  तयारी करवा ली थी , वो चाहते थे कि यह परीक्षण हो तभी चुनाव आ गए और वह चुनाव हार गए।  पूर्व में भाजपा सरकार के वित्त मंत्री रहे माननीय श्री जसवंत सिंह के अनुसार जिस समय पी.वी.नर सिंह राव की सरकार के बाद माननीय श्री  अटल बिहारी वाजपयी जी प्रधानमंत्री पद की सपथ ले रहे थे। तब वहा मौजूद पी.वी. नर सिंह राव जी ने परमाणु परीक्षण के संदर्भ में अटल जी से कहा था  कि "मैं  ने सारी तैयारिया कर दी हैं, लेकिन मैं कर नही पाया अब आप इसे पूरा कर देना"। उस समय सिर्फ 14  दिन में भजापा के सरकार गिर गयी इसलिए अटल जी तब पूरा नही कर पाये लेकिन जैसे ही वह 1998  में फिर से प्रधानमंत्री बने तब उन्होने यह परमाणु परीक्षण  योजना को गंभीरता से लिया और इसे पूरा किया।


                                           "मिशन स्किल इंडिया और इसके पहलु "


खैर मिटटी डालो इन पुरानी बातो पर ,अब बात करते हैं वर्तमान के मिशन " स्किल इंडिया" की। अभी हाल ही में 15 जुलाई 2015 को के मौके पर पर हमारे देश के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी ने स्किल इंडिया मिशन के तहत "Ministry of Skill Development and Entrepreneurship" की चार योजनाओ का शुभारम्भ किया जिनके नाम क्रमश National Skill Development Mission, National Policy for Skill Development and Entrepreneurship 2015 , Pradhanmantri Kaushal Vikas Yojna (PMKVY), और Skill Loan Scheme हैं।  इस मौके पर प्रधानमंत्री  जी ने स्किल इंडिया मिशन की विशेषताओ के बारे में बताया। उन्होने सभी सरकारी संस्थाओ ,प्राइवेट संस्थाओ और देश के युवाओ से इस मिशन को कामयाब बनाने की बात पर जोर  दिया।  

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना(PMKVY) के अंतर्गत अगले  एक वर्ष  में भारत में 24 लाख युवाओ को स्किल ट्रेनिंग देने , किसी  विशेष समय पर तुरंत  जरूरत पड़ने पर ट्रेनिंग देने जैसे मुद्दो को शामिल किया गया है।  साथ ही साथ भारत में ऐसे लोग जो किसी क्षेत्र विशेष में काम करना तो जानते हैं, पर उनके पास उस क्षेत्र  में काम के लिए कोई शैक्षिक् प्रमाण पत्र नही  है।  ऐसे 10 लाख लोगो को योजना के अंतर्गत उनके काम में निपुणता के आधार  पर प्रमाण पत्र देने का प्रावधान है। 


स्किल लोन स्कीम के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रो में  स्किल डेवलमेंट प्रोग्राम को अटेंड करने के लिए अगले 5  वर्षो में 34  लाख लोगो को 5000 से 1.5 लाख रूपये  तक का ऋण देना शामिल किया गया है।  15  जुलाई को पप्रधानमंत्री  जी ने कुछ ऐसे व्यक्तियों को स्किल कार्ड और स्किल सर्टिफिकेट  भी वितरित किये ,जो जिन्होंने मई 2015  में की PMKVY  योजना  के  स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम में अपना रजिस्ट्रेशन कराकर ट्रैनिंग ली है।  

इस के अंतर्गत अभी तक ट्रेनिंग लिए गए जिन लोगो को स्किल कार्ड और स्किल सर्टिफिकेट वितरित किये गए हैं उन  पर Quick Response Code(QR CODE)  अंकित है। जिसको मोबाइल डिवाइस पर QR कोड रीडर की मदद से पढ़ा जा सकता है। जिसकी मदद से  जरूरत पड़ने पर जॉब सर्च के दौरान कंपनी में अपने स्किल  सर्टिफिकेट और  स्किल कार्ड को कंपनी के डिपार्टमेंट के लोगो के साथ आसानी से और कम समय में साथ शेयर किया जा सकता है। 

स्किल इंडिया मिशन सच में काबिले  तारीफ़ है। किन्तु  किसी भी क्षेत्र में काम कर रहे लोगो को ट्रेनिंग और सर्टिफिकेट  देने के साथ ही साथ यह अत्यंत   महत्वपूर्ण   है कि  उस क्षेत्र में रोजगार  के  अवसर भी बढाए जाए। क्यों की आज के समय में बहुत से युवा ऐसे हैं जिनके पास डिग्री , सर्टिफिकेट और काबलियत भी है लेकिन फिर भी वह सीटें कम होने के कारण  या रोजगार के अवसर कम होने के कारण  बेरोजगार  हैं। जब तक स्किल इंडिया मिशन के साथ साथ विभिन्न क्षेत्रो में रोजगार अवसर नही बढ़ेंगे , सीटें नहीं बढ़ेगी तब तक स्किल सिखने के बाद भी जॉब पाना आसान नही होगा, इसके बिना अधूरा है मिशन स्किल इंडिया।  



                                                                                                      

2 comments:

  1. Manoj, Windows-10 अभी तक Reserve की या नहीं। Windows-10 आनी शुरू हो गयी है।

    ReplyDelete
  2. पहल तो बहुत अच्छी है लेकिन 'स्किल सर्टिफिकेट' रोजगार में कितना सहायक होगा इस पहलु पर गंभीरता से विचार भी किया जाना चाहिए

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts