Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Tuesday, June 9, 2015

Importance of Know Yourself and Believe in Yourself

SHARE
अक्सर हम जिंदगी के सफर में सफलता की राह से भटक जाते हैं। कभी शुरवात में भटकते हैं, तो कभी बीच में, तो कभी मंजिल तक पहुचने से थोड़ा पहले। यह भटकाव कई कारणों से हो सकता है।  सफलता तक न पहुंच पाने  का एक बहुत बड़ा कारण  यह भी है कि  हम को खुद पर भरोसा  नही होता और हम अपनी क्षमताओ को सही से पहचान नही पाते या फिर अपनी क्षमताओ को कम आंकने लगते हैं। 

हमे अपनी क्षमताओ, अपनी विशेषताओ के बारे में पता होना बहुत जरूरी है। आप इसे कुछ इस तरह से समझो कि  जब तक किसी सेल्समेन को अपने प्रोडक्ट के बारे में  सही से नही पता होगा तब तक आप उससे उसका प्रोडक्ट नही खरीदोगे।  जितना खुद को जानोगे , अपनी ताकत, अपनी अच्छाईओ के बारे जानोगे, उतना खुद के करीब होते जाओगे। अगर आपको लगता है की आप प्रमोशन के लायक नही हो तो धीरे धीरे आपके बॉस को भी यही लगने लगेगा की आप प्रोमोशन के लायक नही हो।  जब आपको अपनी शक्तियों अपनी खुबिया का पता होगा तो आपको अपनी वैल्यू अपना महत्व  पता लगेगा तभी दुसरे भी आपमें विश्वाश  करेंगे। 

कभी कभी हमारे पास आईडिया तो होते हैं पर खुद पर विश्वास  न होने के कारण हम शुरुवात नही करते ऐसे में याद रखो :

                                  ( IDEA + BELIEVE =  SUCCESS  )
                         
किस्मत पर विश्वास करके मत बैठे रहो।  करना है तो करना है। अक्सर आपके पास   दो विकल्प होते  है या तो करो या फिर छोड़ो।  जैसे ही आप  "करो" वाले विकल्प को चुनते हो और खुद को उसमे रखते  हो तो आपके भीतर कॉन्फिडेंस आना शुरू हो जाता है।  लेकिन जैसे ही आप सही समय के इंतज़ार में या किस्मत के भरोसे या भगवान भरोसे  चीज़ो को छोड़ देते हो तो आप दूसरे विकल्प को चुन लेते हो। 

इसको याद रखो  और काम पर लग जाओ। 

                  "मंजिल मिल ही जायेगी , देर से ही सही ,गुमराह तो वो हैं जो घर से निकले ही नहीं "

7 comments:

  1. बहुत सुंदर और सकारात्मक विचार.

    ReplyDelete
  2. अपनी क्षमताओं का आकलन है भी मुश्किल। इसका तो हनुमान जी को भी याद दिलाना पड़ता था।

    ReplyDelete
  3. सकारात्मक दृष्टकोण हमेशा सफलता प्राप्त करवाती है ..........

    ReplyDelete
  4. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, पतन का कारण - ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  5. सही कहा आपने।
    इन प्रेरणाप्रद लफ्जों के लिए हार्दिक आभार।
    ............
    लज़ीज़ खाना: जी ललचाए, रहा न जाए!!

    ReplyDelete
  6. सभी पाठकगणो का शुक्रिया !

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts