Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Friday, June 19, 2015

Mathematics of Life

SHARE

दोस्तों आज की पोस्ट केंद्रित है हमारे द्वारा किये गये  कार्यो और उनके परिणामो से।  प्रकृति का जो  नियम है उसने जो सन्देश हमको दिया है। उसको मैथमेटिक्स भी सिद्ध  करता है। आपने गणित के इन सिधान्तो के बारे में तो  पढ़ा ही होगा।   गणित की ये चारो समीकरण हमे जीने का तरीका बताती है और यही हमारी जिंदगी का सीधा और आसान सा मैथमेटिक्स है। 


  1. पहली  समीकरण बताती है कि जो कार्य सही (+) है , सकारात्मक (+) है ,यदि हम उसको नहीं (-) करते हैं , तो उसका परिणाम गलत (-) होता है या दुसरे शब्दों में कह सकते हैं की सही काम को ना करने का हमको नुक्सान (-)उठाना पड़ता है।   
  2. दूसरी समीकरण बताती है कि जो काम हमको नही (-) करना चाहिए या जो गलत (-)है यदि हम वह करते (+) हैं तो तब भी हमको नुक्सान (-) उठाना पड़ता है। उसका नतीजा गलत (-)मतलब नकारात्मक ही होता है। 
  3. तीसरी समीकरण आपको बताती है की जो काम अच्छा है सही है सकारात्मक(+) है यदि हम उस काम को करते (+)हैं तो हमको सकारात्मक (+) परिणाम मिलता है। 
  4. चौथी समीकरण बताती है जो काम गलत (-) है जो काम हमको नही करना चाहिए।  यदि हम उसको नही (-)  करते  हैं तो उसका परिणाम भी अच्छा (+) होता है, सही होता है। 


अब आप बताओ क्या इसको समझने के लिए किसी एम बी ए, या पी.एच .डी की जरूरत है भैया ? क्या कोई तकनीकी ज्ञान की जरूरत है भैया ? पर  दुःख की बात तो यह है की हम सब ये डिग्री हासिल करने के बाद भी इनका अनुसरण नही करते  हैं। 

"So be inspired and follow these equations in your life and be happy and make happy others"


9 comments:

  1. Replies
    1. शुक्रिया सर जी !

      Delete
  2. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (20-06-2015) को "समय के इस दौर में रमज़ान मुबारक हो" {चर्चा - 2012} पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया सर जी !

      Delete
  3. सही निष्कर्ष निकाला आपने

    ReplyDelete
  4. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, कदुआ की सब्जी - ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  5. वाह बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
  6. सभी पाठकगणों का शुक्रिया

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts