Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Tuesday, May 5, 2015

इंजीनियर की सिगरेट और चाय !

SHARE

ये पंकजवा यार  ई चाय और सिगरेट का एक साथ पिने का का कनेक्शन है बे ? और मजे कि बात देखत रहे आज कल के ये इंजीनियरिंग करने वाले छोकरे जब चाय पिने आवत है चच्चू की शॉप पर ,तो पहले एक घुट चाय का और फिर एक कश सिगरेट, फिर घुट चाय का और एक कश सिगरेट  का लगाते हैं ससुरे। ऐसा लागत है  कि जैसे सिगरेट पिए बिना इन लोगन कि इंजीनियरिंग पूरी होगी ही नहीं।  इंजीनियरिंग  करने के लिए सिगरेट पीना जरूरी है का बे ? अबे हम भी शुरू करे का बे ई सब ? शायद हमको भी तनिक फायदा मिल जाई।  सिगरेट और चाय पिने  की तो ऐसे 100  % अटेंडेंस लगाने आते हैं जैसे ई अटेंडेंस से ही इनको नम्बर मिलित रहे ।  पूरा पूरा ध्यान रखते हैं कि कही ई में बैक ना आ जाई।    कॉलेज में क्लास में 65 % अटेंडेंस भी नही होती हैं इन लोगन कि वहा  तो बस मौज मस्ती के लिए जाए रहत ई लोग। 

ऐसे ही कुछ शब्द एक दिन मैं अपने मित्र से कह रहा था चच्चू कि शॉप पर।  दोस्तों दक्षिण भारत का तो मुझे पता नही पर उतरी भारत में उत्तर प्रदेश , हरयाणा , नयी दिल्ली , उत्तराखंड एवं मध्य भारत में मध्य प्रदेश के भोपाल में मैं ने यह खूब  देखा है यह।  आज के समय में यह एक फैशन सा चल गया है इंजीनियरिंग  करने वाले अधिकतर छात्रों में सिगरेट पिने की  ऐसी लत लग चुकी है कि मानो इंजीनियरिंग करने के लिए ये सबसे जरूरी चीज़ है।  इसको ये अपना करम और धरम  मानकर पूरी श्रद्धा के साथ इसे निभाते हैं।  चाय वालो कि दूकान  पर इन छात्रों के एक हाथ  में चाय का कप तो दुसरे हाथ में सिगरेट होती है, दोनों का एक साथ आनंद उठाते हैं।  मैं अक्सर जब चच्चू कि शॉप पर चाय पिने जाता हु तो ऐसा ही नजारा देखने को मिलता है। प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ने  वाले अधिकतर छात्र बस फर्स्ट ईयर  और सेकंड ईयर में क्लास में अपनी अटेंडेंस 75  % से अधिक  रखते हैं। थर्ड  ईयर में आते ही ऐसी हवा लगती है इन लोगो को कि क्लास में बंक लगाना शुरू 60  % तक अटेंडेंस भी नही ला पाते और अगर कॉलेज जाते भी हैं तो क्लास में कम , कैंटीन में जयदा नजर आते हैं।


ई सब उल्टा पुल्टा क्यों रहा है ? मुझसे रहा नही गया और एक दिन मैंने सोचा कुछ दिन तक  हर दिन एक नए छात्र से इसके बारे में  पूछुंगा।  जब मैंने  अलग अलग छात्रों से पुछा तो अलग अलग जवाब मुझे मिले।  कुछ जवाब जो मिले वो थे एक ने कहा  सर हम सिगरेट पिने से खुद को रेलक्स फील करते हैं।  एक ने कहा सर सच बताऊ तो ये मुझे भी पसंद नही पर मैं  अपनी फ़्रस्ट्रेशन दूर करने लिए पिता हु। एक ने कहा  सर दिल से सिगरेट पीना पसंद नही करता और अकेले कभी नही पिता  पर साथ के सभी दोस्त पीते हैं तो उनका साथ देने के लिए पी लेता हूँ।  एक ने कहा सर ये हमारे लाइफ स्टैंडर्ड हमारे स्टैट्स का हिस्सा है।  एक लड़के ने तो ऐसा जवाब दिया कि फिर मेरी किसी से पूछने कि हिम्मत ही नही हुयी उसने कहा मैं पीता हूँ आपको क्या मतलब ? मैं ने उसे सॉरी कहा और बापस आ गया 

तो कूल मिलकर यह सीन है हमारे इंजीनियरिंग के अधिकतर छात्रों का। आज भी जब कुछ जान पहचान के छात्रों को चाय और सिगरेट एक साथ पीते देखता हु तो मन ही मन में बुदबुदाता हु "लगे रहो बेटा   लगे रहो" तुम नही मानने वाले।  सिगरेट का के कश  का धुंआ जब ऊपर कि और उड़ाते  हैं तो इन इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए  मुझे देवानंद साहब पर फिल्माया हुआ  एक गीत याद आने लगता है "हर फ़िक्र को धुएं में उड़ता चला गया , मैं इंजीनियरिंग का साथ निभाता  चला गया"।  

नोट : धूम्रपान करना स्वास्थय के लिए हानिकारक है।  धूम्रपान करने से कर्क रोग होता है। 

छोटे बच्चो की आँख में पनपता कैंसर पर मेरे लेख पढ़ने  के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे  -


     

9 comments:

  1. इसे ही कहते है पढ़े-लिखें बेवकूफ! हर सिगरेट के पाकिट पर लिखा होता है की सिगरेट पीना स्वास्थ के लिए हानिकारक है फिर भी...पीत है . कहते है न पढ़े -लिखों को समझाना ज्यादा मुश्किल है . बढ़िया आलेख .

    ReplyDelete
  2. हाँ भाई।
    आज तक एक बात समझ में नहीं आती कि धुएं से b.tech का क्या सम्बन्ध..मेरे भी हॉस्टल में निचे हैं कुछ बच्चे जिनके हाथ में सिगरेट और अलमारी में बियर मिलती है।
    अद्भुत कहानी है।

    ReplyDelete
  3. अति सुन्दर प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  4. इनकी ज़िंदगी ही धुँआ धुँआ है। न जाने कब कैसे कौन इन्हे समझा सकता है। अच्छी प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  5. साइंस ब्लॉगर्स असोसिएशन पर भी आपका लेख रेटिनोब्लास्टोमा: बच्चों की आँख में पनपता कैंसर ट्यूमर पढ़ा जानकारीवर्धक और परिपूर्ण लगा। बधाई

    ReplyDelete
  6. सभी पाठकगणो का शुक्रिया

    ReplyDelete
  7. सभी पाठकगणो का शुक्रिया

    ReplyDelete
  8. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts