Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Friday, May 22, 2015

यह कैसा अंधविश्वास ?

SHARE

जहा आज के समय में हम एक और मोबाइल और इंटरनेट की दुनिया में नयी नयी तकनीको को अपनी जीवन शैली में अपनाते हुए जीवन यापन कर रहे हैं।  वही दूसरी और हमारे देश की  जनसंख्या एक बहुत बड़ा हिस्सा अंधविश्वास में  डूबा हुआ है ।   कल ऐसी ही दिल दहला देने वाली एक खबर  मुझे टी.वी. पर देखने को मिली।  जिसमे वाक्यदा उन औरतो से बात की गयी जिन्होंने अंधविस्वास में मग्न होकर अपने 2  साल से 15  साल तक के बच्चो के साथ ये कारनामा किया।  

दरअसल ये घटना उत्तर प्रदेश के जिला रायबरेली के एक गाव  की है जहा  पर इस समय  अधिकतर छोटे बच्चे बीमार पड़  रहे हैं।  खबर  के अनुसार इन बच्चो को उल्टी ,दस्त, बुखार जैसी बीमारिया हो रही है। अब आप ही बताये की आखिर इन बीमारी का क्या कारन हो सकता है ? हो सकता है आपका जवाब हो की गर्मी का मौसम है तो सही से खाने पीने का ध्यान या शरीर का सही ध्यान  न रखने के कारन  इस वजह से ये बीमारी हो रही हो। लेकिन इस गाव की औरतो का मानना है की उनके गाव में इन दिनों  एक ऐसे राक्षस   का साया मंडरा रहा है जो छोटे छोटे बच्चो को बीमार कर रहा है।  इस राक्षस के साये से अपने  बच्चो को बचाने के लिए गाव की औरतो  ने अपने बच्चो के हाथ की सबसे छोटी ऊँगली के  आगे के हिस्स्से को  आग से जला  दिया है।  ऐसा करने से उनके बच्चो पर राक्षस का साया नही पड़ेगा उपरोक्त खबर का सम्पूर्ण विवरण का इंडिया न्यूज़ चैनेल  पर में वीडियो के माध्यम से लाइव दिखाया  गया। 

 समझ में नही आता कि  आखिर क्यों ऐसी नौबत आती है। गाव हो या शहर आज के समय में हर जगह की जनता समझदार हो चुकी है फिर भी ऐसी घटनाएं क्यों सुनने में आती हैं।आने वाली पीढ़ी की सोच पर , उसके भविष्य पर घर परिवार के माहौल का काफी  असर पड़ता है।  अगर इन लोगो ने अभी भी अंधविश्वास में डूबकर  ऐसी घटनाओ को जारी रखा तो ऐसा करके ये अपनी आने वाली पीढ़ी को मानसिक, आर्थिक और सामर्थिक रूप से  कमजोर बनाने की ही तैयारी कर रहे हैं। 

नोट : "क्लाउड कंप्यूटिंग " पर मेरा   लेख पढ़ने के लिए  निचे  दिए गए लिंक पर क्लिक करे। 



7 comments:

  1. माँ बाप भला ही चाह रहे हैं। पर अफसोस वे भी अंधविश्वास के शिकार हो गए।
    "अंधविश्वास को पहचानो !"

    www.basicuniverse.org/2015/03/AndhVishvas.html

    ReplyDelete
  2. यह अन्धविश्वास का भयावह रूप है, जो मां बच्चे की इक ठोकर भी सहन नही कर पाती वह भी ऐसा निर्णय लेने पर विवश हो गयी

    ReplyDelete
  3. माँ बाप ही जब अंधविश्वास में हैं तो बच्चों का क्या होगा ?
    हिंदीकुंज

    ReplyDelete
  4. अशिक्षा अन्धविश्वास को बढ़ावा दे रही है.
    नई पोस्ट : वह रहस्यमयी फ़क़ीर

    ReplyDelete
  5. अंतर्मन पीड़ा से भर उठता है जब आज के ज़माने में भी लोग ऐसे अंधविश्वासों को मानते है।
    इन्हे जागृत करना अति आवश्यक है।

    ReplyDelete
  6. विज्ञान की इतनी तरक्की के बावजूद भी लोग इन चीजों पर विश्वास कैसे करते है, यही समझ में नहीं आता है .

    ReplyDelete
  7. सभी पाठकगणो का शुक्रिया

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts