Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Thursday, April 16, 2015

रॉफेल : भारत को मिला बृह्माश्त्र !

SHARE
अरे ओ छोटू !

हाँ चाचा !

कछु सुनत रहो की नाय ?

का चाचा ? का भयो ?

अरे हम सुनत रहे की भारत की फ़्रांस से रॉफेल लड़ाकू विमान खरीदने के डील पूरी हो गयी है !

चाचा , भारत  को रॉफेल मिलने की खबर सुनकर दुश्मन देशो की तो सुलग गयी होगी। अब वो भारत पर हवाई हमला करने से पहले सौ बार सोचेगे !

हाँ शायद ऐसा ही होगा !


अभी हाल ही में कुछ दिन पहले "रॉफेल" शब्द काफी चर्चा में में रहा। दरअसल रॉफेल एक लड़ाकू विमान है जो कुछ ख़ास विशेषताओ को संजोये हुए है बस ये समझ लीजिये  की जिस देश को ये लड़ाकू विमान मिल गया समझो उसको ब्रह्माश्त्र  मिल गया हो। फिर उसके दुश्मन देश उस पर हवाई हमला करने से पहले सौ बार सोचेगे। फ़्रांस देश की भाषा में रॉफेल शब्द का मतलब तूफ़ान है। 

रॉफेल लड़ाकू विमान को फ़्रांस ने बनाया है और भारत अपनी हवाई सैन्य  क्षमता को अधिक मजबूत बनाने के लिए फ़्रांस से इसको खरीदना चाहता है . इसलिए भारत  ने फ़्रांस के साथ एक महत्वपूर्ण डील की है जिसके तहत   भारत की फ्रांस से 128 अत्याधुनिक लड़कू विमान खरीदेगा । जिनमे से 36 विमान जल्द ही भारत को मिलने वाले हैं, जबकि 108 विमानों का निर्माण भारत में ही कराया जाएगा।

 भारत को रॉफेल मिलते ही चीन और पाकिस्तान जैसे देश हवाई हमलों के मामलों में भारत से पंगा नही लेंगे।  क्यों की  रॉफेल 550000 फुट ऊंचाई से भी दुश्मन के ठिकानों पर निशाना लगाकर उन पर बम गिरा सकता है। यह विमान कई तरह की मिशालों समेत परमाणु बम गिराने में भी समर्थ है ।

आपको ये जानकार ख़ुशी होगी कि  अभी सिर्फ दो ही देशों के पास है ये रॉफेल विमान है।  भारत दुनिया का तीसरा ऎसा देश है जो राफेल विमान की ताकत रखने वाला देश बनने जा रहा है। यह लड़ाकू विमान फ्रांस की वायुसेना, जलसेना और थल सेना के अलावा मिश्र की सेना के पास है। भारत के रॉफेल के लिए बढ़ते  हुए  जर्मनी, इटली, स्पेन, यूके, ऑस्ट्रिया और सऊदी अरब भी अब इसे खरीदने की तैयारी कर  है।

 राफेल लड़ाकू विमान को फ्रांस की "डासाल्ट एविएशन" नामक  कंपनी ने बनाया है। रॉफेल 35.4 फुट चौड़ाई में  है एवं   यह 1750 केटीएस की गति से उड़ता है।  रॉफेल लड़ाकू विमान 450 मीटर के एरिया में लैंडिंग करने में सक्षम है  एवं  1000 फुट प्रति सेकेंड की रफ्तार सीधे उड़ सकता है एवं 55000 फुट की ऊंचाई से बम गिराने में सक्षम है. वर्तमान समय में रॉफेल  लड़ाकू विमान अत्याधुनिक फाइटर प्लेन यूरोफाइटर टायफून, सुपर हॉर्नेट, एफ-16 ब्लॉक60, मिग-35, साब ग्रिपिन की टक्कर का है।

भारत के पास रॉफेल लड़ाकू विमान  होना हमारे लिए एक गौरव की बात है।  हम आशा करते हैं की भारत अपनी शक्ति को और मजबूत करता रहेगा।  




5 comments:

  1. ये भी एक जरुरत है। जो अब पूरी होगी।

    ReplyDelete
  2. बढ़िया जानकारी मनोज जी,
    काफी समय से एक अच्छे साइंस ब्लॉग (हिंदी में ) की तलाश कर रही थी
    आज सफल हो ही गई। धन्यवाद। इस उपयोगी ब्लॉग को बनाने के
    लिए आपका आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी शुक्रिया . धन्यवाद की आप ने ब्लॉग का अनुसरण किया

      Delete
  3. समसामयिक विषय पर अतिउत्तम जानकारी दी गयी है। धन्यवाद।

    ReplyDelete
  4. सभी पाठकगणो का शुक्रिया !

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts