Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Sunday, March 29, 2015

रेल विभाग ने तो हद ही कर दी !

SHARE

दोस्तों मैं ऐसी पोस्ट लिखने का आदि नही हुँ जिसमे मैं किसी व्यक्ति विशेष , विभाग, सरकार या किसी पार्टी के प्रति रोष व्यक्त करू। लेकिन जब ऐसी खबरे सुनने में आती है जिनसे आम आदमी को, गरीब आदमी को न सिर्फ परेशानी होती है बल्कि उसके गरीबी के जख्म हरे हो उठते हैं , तो दिल एक आघात लगता है , एक पीड़ा उठती है और गुस्सा भी आता है। ऐसे में शब्दों को लिखने से रोक नही पता कल एक खबर पढ़कर बहुत पीड़ा हुयी जो इस पोस्ट में शब्द बनकर फूटी है।पर क्या कर सकते हैं कुछ नही जिसकी लाठी उसकी भैंस। हम लोगो बचपन से झेलने कि आदत पड़ गयी है , अभी भी झेल रहे हैं और आगे भी झेलेंगे लेकिन आखिर कब तक जब तक हम इन सबके खिलाफ आवाज़ नही उठायेगे तब तक ये हमको ऐसे ही सताते रहेंगे ! 


मैं ने भी मोदी जी को यही सोचकर वोट दिया था की शायद इनकी सरकार आने पर महंगाई कम होगी , आम आदमी को राहत मिलेगी लेकिन सरकार बने 1 साल होने को जा रहा है। इस सरकार के अभी तक कार्य और वर्ताव को देखकर मैं यही कह सकता हूँ की ये सरकार पूंजीपतियों को मालामाल और गरीबो को बेहाल करने वाली सरकार है। एक ओर जहा नया भूमि अधिग्रहण अध्यादेश लेकर इस सरकार ने किसानो के पेट पर लात मारने की ठान रखी है। वही दूसरी और रेलवे ने आम आदमी का इतना सता रखा है की मत पूछिये पिछले 10 महीनो में रेलवे ने जितना किराया बढ़ाया है उतनी महंगाई ओर किस ने नही बड़ाई। जहा एक तरफ रेलवे विभाग ट्रेनों में बढ़ती लूट मार को रोकने में बुरी तरफ असफल है। वही दूसरी ओर ट्रेनों में खाने पीने की चीज़ो के दाम आसमान छु रहे हैं।
                      

कल दैंनिक जागरण में एक पोस्ट पढ़ी तो सुनकर धक्का लगा , गुस्सा तो बहुत आया , दुःख भी बहुत हुआ पर कुछ नही कर सकते हम जैसे आम आदमी बस इस महगाई को झेलने के अलावा। कल खबर पढ़ी की "भारतीय रेल अब सभी मेल और एक्सप्रेस ट्रेन में प्रीमियम टिकट की तरह ही डायनमिक किराया सिस्टम लागू करने कह तैयारी कर रही है। मोहम्मद जमशेद की अध्यक्षता वाली समिति ने रेलवे से यह सिफारिश की है। अगर यह सिफारिश लागू हो गई तो हवाई जहाज की तरह सभी मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों का किराया बुकिंग के साथ बढ़ता जाएगा, यानी जितनी सीटें कम होती जाएंगी, किराए में बढ़ोतरी होती जाएगी। गौरतलब है कि यह व्यवस्था कुछ ट्रेनों में पहले से ही लागू है।" 


ये सब क्या हो रहा है ? क्यों बना वजह पैसे बड़ा रहे हो ? रेलवे विभाग बिलकुल बनियागिरी पर उत्तर आया है . आये दिन किसी न किसी चीज़ के बहाने जनता को सताने में लगा हुआ है। जबकि सुरक्षा के नाम पर "निल बटे सन्नाटा" . चुप्पी साध लेता है। कोई पुख्ता कदम नही न ही कोई पुख्ता इंतज़ाम .ये कहा का इन्साफ है कि अगर सीटें कम हुयी तो आप किराया ज्यादा लोगे। तत्काल टिकट के बहाने बड़े हुए 100 रूपये लेते तो हो , प्रीमियम टिकट के बहाने के कामयी आपने शुरू कर ही दी है। अब ये एक कमी ओर बची थी कि सीटें कम हो तो किराया भी ज्यादा लगेगा ये भी पूरी कर दी। सच कहूँ तो बिलकुल अंधाराज चला रखा है। सभी सरकारी संस्थाओ और विभागों में म्ख्यता शुल्क दर कम ही रखी जाती है जिससे जनता को दिक्कत न हो , ये विभाग जनता कि सुविधा देख रेख के लिए बने हैं।  पर अब तोहद मचाकर रखी है। मैं ने एक डायलॉग सुना था की "आम आदमी सोता हुआ शेर है ऊँगली मत कर , वरना चीर फ़ाड़ देगा " मैं ने गलत सुना था आम आदमी सोया ही रहेगा चाहे सरकार कितने भी जुल्म कर ले। 

8 comments:

  1. "आम आदमी सोता हुआ शेर है ऊँगली मत कर , वरना चीर फ़ाड़ देगा " मैं ने गलत सुना था आम आदमी सोया ही रहेगा चाहे सरकार कितने भी जुल्म कर ले। .....जागो जनता जागो !

    ReplyDelete
  2. क्या खूब कही आपने

    ReplyDelete
  3. चिंता न करें सरकार किसी की भी हो जब तक सुविधाओं के लिये राजनैतिक इच्छाशक्ति नहीं होगी, तब तक कुछ नहीं होगा।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही कहा आपने , लेकिन चलो तत्काल टिकट का महंगा होना तो समझ आता है पर ये कौन सी बात हुयी की जैसी जैसे टिकट बुक होती जायेगी और सीटो की संख्या कम होती जायेगी वैसे वैसे किराया बढ़ता जाएगा वो भी मेल और एक्सप्रेस ट्रैन में जिनमे आम आदमी सफर करते हैं !

      Delete
  4. कौन सोचता है आम जनता की...

    ReplyDelete
  5. "आम आदमी सोता हुआ शेर है ऊँगली मत कर , वरना चीर फ़ाड़ देगा " मैं ने गलत सुना था आम आदमी सोया ही रहेगा चाहे सरकार कितने भी जुल्म कर ले।
    सही कहा आपने ...यही वस्तुस्थिति है .

    ReplyDelete
  6. म एडम्स KEVIN, Aiico बीमा plc को एक प्रतिनिधि, हामी भरोसा र एक ऋण बाहिर दिन मा व्यक्तिगत मतभेद आदर। हामी ऋण चासो दर को 2% प्रदान गर्नेछ। तपाईं यस व्यवसाय मा चासो हो भने अब आफ्नो ऋण कागजातहरू ठीक जारी हस्तांतरण ई-मेल (adams.credi@gmail.com) गरेर हामीलाई सम्पर्क। Plc.you पनि इमेल गरेर हामीलाई सम्पर्क गर्न सक्नुहुन्छ तपाईं aiico बीमा गर्न धेरै स्वागत छ भने व्यापार वा स्कूल स्थापित गर्न एक ऋण आवश्यकता हो (aiicco_insuranceplc@yahoo.com) हामी सन्तुलन स्थानान्तरण अनुरोध गर्न सक्छौं पहिलो हप्ता।

    व्यक्तिगत व्यवसायका लागि ऋण चाहिन्छ? तपाईं आफ्नो इमेल संपर्क भने उपरोक्त तुरुन्तै आफ्नो ऋण स्थानान्तरण प्रक्रिया गर्न
    ठीक।

    ReplyDelete
  7. सभी पाठकगणो का शुक्रिया !

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts