Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Wednesday, November 9, 2011

ऊर्जा बचाने में अब ये चिप आपकी मदद करेगी

SHARE


ऊर्जा का बढता प्रयोग आज हमारे जीवन का एक अहम् हिस्सा बन गया है . हमारे दैनिक जीवन के अधिकतर काम आज के समय में बिजली से चलने वाले यंत्रो की मदद से किये जाते है.इसलिए ऊर्जा का अपना एक विशेष महत्व है . जिसको बनाने के लिए तरह तरह के साधन और तकनीको को विकसित किया जा रहा है. जिनमे बड़े स्तर नदियों पर बाँध बनाकर बिजली उत्पन्न करना तो पहले से ही है .

इसके अतिरिक्त बड़े स्तर पर नाभिकीय रिएक्टर बनाकार परमाणु ऊर्जा के द्वारा बिजली उत्पन्न करना भी एक अहम् कदम है . अगर हम छोटे स्तर पर बात करे तो , बिजली बनाने के लिए डीजल इंजन , पेट्रोल इंजन आदि भी बनाए गये. और साथ ही साथ सेल बेटरी बनाकर रासायनिक क्रिया द्वारा बिजली बनाना भी आम तौर पर प्रयोग होता है.

धीरे धीरे फिर बारी आई सौर ऊर्जा की मानव ने सूरज की रौशनी क़ा प्रयोग करके भी बिजली बना डाली . इतने सब आविष्कार किये गये बिजली को बनाने के लिए फिर भी आज इसकी कमी महसूस होती है . कितना अच्छा होगा कि हम आज के समय में ऊर्जा के बड़ते उपयोग को देखकर ऐसी तकनीको को प्रयोग करे जो कि ऊर्जा को बनाने में हमारी मदद करे. इस दिशा में एक ऐसी चिप बनायी है


भारतीय मूल के एक अमेरिकी वैज्ञानिक राज दत्त जी ने , जो न सिर्फ ऊर्जा बचाएगी, बल्कि उपलब्ध चिप्स की तुलना में सस्ती भी पड़ेगी.इस चिप की खासियत को ऐसे समझा जा सकता है कि इसकी मदद से प्रोसेसर 90 फीसदी कम ऊर्जा खर्च करेंगे.साथ ही उनकी रफ्तार में 60 परसेंट कि तीव्रता आ जायेगी .

इस तकनीक की खास बात यह है कि सेमीकंडक्टर चिप पर सूचनाओं का ट्रांसफर फोटांस के जरिए होगा.अभी तो इस काम को करने के लिए इलेक्ट्रांस का प्रयोग हो रहा है. पावर कंजंप्शन के नजरिये से तो यह बहुत उपयोगी है ,फोटॉन से सूचनाओं के आदान प्रदान से इतनी हीट उत्पन्न नहीं होती इस कारण प्रोसेसर को ठंडा बनाए रखने के लिए ऊर्जा खर्च नहीं करनी पड़ेगी. और इस तरह यह ऊर्जा कि खपत में कटौती करके ऊर्जा बचाएगी . इलेक्ट्रॉन केंद्रित तकनीक में पुर्जो को ठंडा बनाए रखना जरूरी होता है

.इसके साथ ही एक चिप में ट्रांजिस्टर्स की संख्या बढ़ाई जा सकेगी. पर इसका असर इसकी स्पीड पर पास सकता है .यह चिप अमेरिकी रक्षा प्रतिष्ठान पेंटागन को उपयोगी लगी है और वो जल्द ही इसका इस्तेमाल अगली पीढ़ी के ज्वाइंट स्ट्राइक फाइटर विमान एफ-35 में करने जा रहे है. राज दत्त जी अब पेंटागन से करार करने के बाद इसे सामान्य उपयोग के लिए भी इस चिप को उपलब्ध कराने की सोच रहे हैं. अब देखना है कि कब तक मार्केट में आने वाले यंत्रो में इस चिप क़ा प्रयोग होता है .और कब हम ऊर्जा बचा पते हैं.

7 comments:

  1. एक महतवपूर्ण अपडेट .बधाई .

    ReplyDelete
  2. बहुत बढ़िया, महत्वपूर्ण और ज्ञानवर्धक जानकारी प्राप्त हुई ! धन्यवाद !
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.com/

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छा किया सर हलचल पर अपने ब्लॉग का लिंक देकर क्योंकि आपको मैं बहुत दिन से ढूंढ रहा था। साईस ब्लॉगर एसोसिएशन और 'हिंदुस्तान' मे आपके आलेख पढ़ता रहता हूँ।
    चलिये अब आपके ब्लॉग पर आना होता रहेगा।

    सादर
    ---

    मोड़

    ReplyDelete
  4. बहुत ही ज्ञानवर्धक तकनीकी आलेख।

    ReplyDelete
  5. भाई अच्छा लगा आपके ब्लॉग पर आकर
    अ गुड एक्सपेरिएंस इट वाज़
    प्रदीप नील
    www.neel-pardeep.blogspot.com

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी और ज्ञानवर्धक जानकारी प्राप्त हुई ! धन्यवाद !

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts