Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Thursday, March 17, 2011

रंग लायी फ़्रांस के कंप्यूटर वैज्ञानिक यान रेनार्ड और लारेंट बोनेट की ५ साल की मेहनत --


अभी हाल ही में आई.आई टी. मुम्बई में एक तकनीक कांफेरेंस का आयोजन हुआ . जिसमे मुख्य केंद्र फ़्रांस से आये कंप्यूटर वैज्ञानिक यान रेनार्ड और लारेंट बोनेट की रीसर्च रही. इन कंप्यूटर वैज्ञानिको ने एक ऐसा सॉफ्टवेर विकसित किया है जिसके द्वारा अब आपको कंप्यूटर पैर कुछ काम करने के लिए की बोर्ड पर कुछ टाइप करने की जरूरत नहीं बल्कि इस सॉफ्टवेर की मदद से ही कंप्यूटर आपके दिमाग के विचारों को पड़कर अपने आप काम करेगा . ये सॉफ्टवेर आपके दिमाग के विचारों को कमांड में बदलेगा . इस सॉफ्टवेर का नाम
ओपन वाईब है. यह प्रोग्राम एक तरह से आपके दिमाग को पढ़ कर कंप्यूटर को कमांड देगा। यह सॉफ्टवेयर को बनाने कि प्लान्निंग 2005 में ही कंप्यूटर वैज्ञानिक यान रेनार्ड और लारेंट बोनेट द्वारा शुरू कर डी गई ऑर ये इनकी 6 साल की महेनत का ही परिणाम है, कि ये सॉफ्टवेयर कई प्रयोग करने में सहायक है
कंप्यूटर वैज्ञानिक यान रेनार्ड और लारेंट बोनेट ने कहा कि ओपन वाईब सॉफ्टवेयर ऐसी प्रणाली है जिसके विद्युत संकेत मस्तिष्क की गतिविधियों से जुड़े हैं। यह विचारों को कमांड में बदल देते हैं, जिसे मशीन आसानी से समझ लेती है। यह सॉफ्टवेयर लोगों को कंप्यूटर से संवाद करने का मौका देता है। यह स्वचालित प्रणाली है जिसमें लोगों को हाथों या किसी आउटपुट का प्रयोग किए बगैर रिमोट कंट्रोल को सक्रिय किया जा सकता है। विचारों को लिख भी सकेगा सॉफ्टवेयर: वैज्ञानिकों ने बताया ओपन वाईब को शोधकर्ताओं, चिकित्सकों से लेकर वीडियो गेम विकसित करने वाले को ध्यान में रखकर बनाया गया है।














Recent Posts