Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Wednesday, July 7, 2010

आखिरकार अन्तरिक्ष के बड़ते हुए फैलाव को देखकर वैज्ञानिको को याद आ ही गए आइंस्टाइन जी

अरे ओ छोटू !

हां भैया !

कुछ सुना तुने !

क्या भैया?

यही कि अब अन्तरिक्ष वैज्ञानिको को आइंस्टाइन जी कि याद आने लगी है।

भैया वो इसलिए कि उन्होने जो भविष्यवाणी की थी वो अब वैज्ञानिको को सच लगने लगी है .आखिरवो भी मान ही जायेंगे कि आइंस्टाइन जी भी गलत नहीं थे।

हां छोटू ऐसा ही होगा !




दरअसल ये पता लगा है कि दुनिया में कोई भी चीज स्थिर नहीं है। हम जिन सितारों को आकाश में जगमगाते देखते हैं वे भी लगातार एक-दूसरे से दूर होते जा रहे हैं। हाल ही में किए गए एक शोध में तो यह बात सामने आई है कि ब्रह्मांड के फैलाव में तेजी आ रही है, जिससे तारों के एक-दूसरे से दूर जाने की गती बढ़ रही है।

वैज्ञानिकों ने अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के हब्बल स्पेस टेलीस्कोप के इस्तेमाल से हजारों आकाशगंगाओं का अध्ययन कर यह पता लगाने में सफलता हासिल कर ली है कि हमारा ब्रह्मांड तेजी से फैल रहा है।वैज्ञानिकों ने इस शोध से महान अंतरिक्ष विज्ञानी एल्बर्ट आइंस्टाइन की भविष्यवाणी सच साबित हुई है।

दरअसल आइंस्टाइन ने भविष्यवाणी की थी कि वक्त के साथ ब्रह्मांड के फैलाव में तेजी आएगी। इस शोध के लिए खगोल विज्ञान से जुड़े अंतरराष्ट्रीय दल ने करीब 446,000 गैलेक्सियों का अध्ययन किया। वैज्ञानिकों ने अध्ययन में ब्रह्मांड में पदार्थ के बंटवारे को मापने और इसके फैलाव के इतिहास की सही जानकारी प्राप्त करने की कोशिश की। इस अनुसंधान के परिणाम में वैज्ञानिकों ने पाया कि समय के साथ ब्रह्मांड का फैलाव तेज होता जा रहा है।

शोध में शामिल नीदरलैंड की लेइडेन यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक लुदोविक वान वाएरबेक ने कहा कि हमारे नतीजे इस और इशारा करते है कि ब्रह्मांड में ऊर्जा एक गुप्त स्त्रोत है जिसकी वजह से इसका फैलाव रफ्तार पकड़ रहा है।आगे आगे अन्तरिक्ष कि बातो को देखो "आखिर अन्तरिक्ष कि पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त "
चलते चलते आइंस्टाइन जी को बहुत बहुत धन्याद !

Friday, July 2, 2010

किसी के जी मेल अकाउंट का गलत इस्तेमाल करने वालो कि अब खैर नहीं .... ---



अरे ओ छोटू !

हां भैया!

कुछ सुना तुने !

क्या भैया?
वो ये कि अब किसी के जी मेल का गलत इस्तेमाल करने वाले का पता लगाना होगा और भी आसान

भैया यानी कि अब जी मेल के साथ गलत करने वाले को को बक्शा नहीं जायेगा उसका अच्छा इंतजाम कर दिया गूगल ने !
हां छोटू ऐसा ही होगा !
जी हां अगर आप जी मेल अकाउंट होल्डर है तो आपके लिए सही खबर है लेकिन इसकी लिए आपको सावधानी बरतनी होगी और जीमेल के सिक्यूरिटी के बारे में अपनी जानकारी को को अपडेट करना होगा । लीजिये एक महत्वपूरण जानकारी गामी अकाउंट कि सिक्यूरिटी के बारे में ----


आपके जीमेल अकाउंट को किसी ने आपकी जानकारी के बगैर खोला है और ई-मेल भेजा है, तो अब आप इसकी जानकारी हासिल कर सकते हैं। जीमेल का यह नया फीचर अब आपको बता पाएगा कि आपका अकाउंट कहां से और कब खोला गया था? हालांकि, यह फीचर जीमेल में पहले से ही मौजूद था, लेकिन यूजर्स की नजर इस पर कम ही पड़ती थी। इसलिए हाल ही गूगल ने यूजर्स की तरफ इसका ध्यान आकर्षित करने के लिए इस जानकारी को बैनर के रूप में देने का फैसला किया है। यदि आप जीमेल अकाउंट मेंटेन कर रहें हैं, तो कुछ ही समय में आप अपने इनबॉक्स के ऊपर यह जानकारी बैनर के रूप में देख पाएंगे। यह फीचर आपको यह भी बताएगा कि अकाउंट खोलने के लिए किस ब्राउजर और आईपी एड्रेस का इस्तेमाल किया गया है।
इसके अलावा गूगल के अन्य सिक्योरिटी फीचर भी लगातार एक्टिव रहेंगे। गूगल की ओर से दी गई इन सुविधाओं का एक मकसद तेजी से लोकप्रिय हो रही सोशल नेटवर्किग से मुकाबले का है, तो दूसरा अपने यूजर्स को फ्रॉड से बचाने का।
आईटी एक्सपर्ट्स मानते हैं कि इससे निश्चित ही गूगल के यूजर्स की संख्या में इजाफा होगा। साथ ही इसका फायदा यूजर और कंपनी दोनों को ही मिलेगा। एक्सपर्ट्स ने बताया कि यदि आप हर रोज एक ही देश से अकाउंट एक्सेस करते हैं। कभी भी,किसी भी जगह से अकाउंट खोला जाता है और किसी दूसरे द्वारा उसमें बदलाव किया जाता है, तो ऐसी स्थिति में जीमेल आपके अकाउंट विंडो में एक वॉर्निग मैसेज शो करेगा। इससे यूजर को यह आसानी से पता चल जाएगा कि उनका अकाउंट कहीं हैक हो रहा है। इसके साथ ही डिटेल्स ऑप्शन पर क्लिक करने के साथ ही यूजर जान सकेंगे कि कौनसा आईपी एड्रेस अकाउंट खोलने के लिए यूज किया गया था।
गूगल के इस फीचर के साथ-साथ यूजर्स को हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि वह अपने ई-मेल चेक करने के बाद लॉगआउट करें और थोड़े -थोड़े समय पर अपना पासवर्ड बदलते रहें। इसके साथ ही ऐसा पासवर्ड यूज करें, जिसे आसानी से जाना न जा सके। इस तरह की सावधानियां बरतकर यूजर्स अपने अकाउंट को सुरक्षित रख सकते हैं।


गूगल के इस प्रयास के लिए गूगल जी को बहुत बहुत धन्यवाद !

Recent Posts