Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Thursday, April 29, 2010

ये भी है आगे बदने का एक आसान सा तरीका


                             

10 common bad habit , How to Change bad habit in hindi, hoe to break a bad habit? how to stop bad habit? how to get rid of bad habit? tips to remove bad habit? tips to remove nail biting, how to stop nail biting, how to rid of smoking, how to rid of drinking, way to stop smoking, way to stop drinking,way to stop forgetting, ow to take interest in study, tips fpr taking interest in study in hindi, ये आदत है बुरी - आदत ये बदल डालो! ,बुरी आदतो को कैसे बदले ? उनसे कैसे निपटे ?पढ़ाई में मन न लगने की आदत से कैसे निपटे की पढ़ाई में मन लगे ,ड्रग्स और स्मोकिंग की आदत से कैसे छुटकारा पाये ?भूंलने की आदत से कैसे निपटे ?,नाख़ून चबाने से कैसे बचे ?किस ख़राब आदत से कैसे पाये छुटकारा ?
मुझे लगता है की आगे बदने का ये भी एक आसान सा तरीका हो सकता है और कुछ एस तरह कहू की अपने आप की कमियों को सुधारने का --- वो ये है कि हमसे जिन जिन व्यक्तियों को अक्सर शिकायत रहती है और वो हमसे नाराज़ रहते है इसके लिए हमको चाहिए कि उन सभी व्यक्तियों को जिनके आस पास हम रहते है , जिनसे हम बोलते ही , उन सभी को एक पेपर दे और उनसे ये कहे और निवेदन करे कि आपको मेरे अन्दर जो कमिया नज़र आती है उनको एस पेपर पर लिख दो एस तरह हमसे वो नाराज़ भी नहीं होंगे और उनके दिल में भी हम कुछ जगह बना लेंगे । और फिर हम उन कमियों को देखे कि क्या वो हमारी वास्तविक कमिय है यदि हाँ तो उनको सुधारने कि कोसिस करे । ये पेपर हम अपने घर के सदस्यों , मित्रो , अपने अध्यापको को दे सकते है एस तरह हमको आगे बदने का एक अवसर मिल जाता है।

"Always give blank Ppaper to the People"

Friday, April 23, 2010

3-डी अख़बार / 3 D News Paper





"जी हा अब तक आप केवल 3-डी फ़िल्मों और वीडियो गेम के बारे में ही सुनते आए होंगे लेकिन अब एक अख़बार ने भी 3-डी अंक प्रकाशित करने का प्रयोग किया है।  बेल्जियम में फ़्रेच भाषा में छपने वाले एक अख़बार ने यूरोप का पहला 3- डी (त्रिआयामी ) अंक प्रकाशित किया है। "

अख़बार ला डार्नियर ह्यूर (डीएच) ने अपने इस विशेषांक के सभी फ़ोटो और विज्ञापन को थ्रीडी प्रारूप में प्रकाशित किया है. लेकिन इसकी शेष सामग्री सामान्य है। 

फ़्रांस के विश्लेषकों ने अख़बार के इस साहसिक क़दम को सलाम किया है लेकिन कहा है कि यह अभी यह पूरी तरह दोषरहित होने से काफ़ी दूर है.अख़बार के संपादक ह्यूबर्ट लेकलर्क ने बताया कि इस विशेषांक को तैयार करने में दो महीने का समय लगा। 

यह सामान्य अख़बार की एक लाख 15 हज़ार प्रतियों के छापने में लगने वाले समय से बहुत अधिक था। लेकलर्क ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, ''हमने 3-डी सिनेमी, टीवी और वीडियो गेम के बारे में सुना था इसलिए हमने यह चुनौती स्वीकार की.''पीसी वर्ल्ड के फ़्रेच संस्करण के मुतबिक़ आँखों से 50 सेंटीमीटर की दूरी पर रखकर पाठक इसे आसानी से देख सकते हैं। इसके मुताबिक़ ''केवल कुछ मिनटों में ही आँखें थ्री डी तस्वीरों को देखने की अभ्यस्त हो जाती हैं।  

इसके लिए किसी विशेष तरह के चश्मे की ज़रूरत नहीं होती। ''पीसी वर्ल्ड के मुताबिक़ कुछ तस्वीरों, ख़ासकर विज्ञापनों में अच्छा 3-डी प्रभाव है लेकिन बाकी की तस्वीरें अस्पष्ट हैं या उनको देखना कठिन है। चलिए ये खबर तो अच्छी है।  लेकिन देखन ये है अपने भारतवर्ष में थ्री डी अखवार को छपने में कितन समय लगता है । लेकिन जरा सोचिये की स्टार्टिंग में थ्री डी अखवार को पड़ना कितना रोचक होगा मुझे अभी भी याद जब हमने अपने दोस्तों के साथ पहली थ्री डी पिक्चर सिनेमा हॉल में देखी थी उसके लिए मुझे अलग से एक चस्मा लेना पड़ा जिसकी सहायता से उसको देख पाए थे अबग देखो थ्री डी अखवार को पढने का मज़ा भी कुछ अलग ही होगा ......!!

Monday, April 5, 2010

पर्यटकों और जानवरों की फोटोज लेने वाले शौकिनो के लिए फुजी फ्लिम वालो का एक अनमोल तोहफा

जी हां अब गर्मिय तो आ ही गयी है और साथ ही साथ जून की होलिडेज भी आने वाली है तो अब पर्यटकों का ठन्डे स्थानों पर घूमना भी शुरू हो जयेगाऔर अगर घूमते वक़्त एक केमरासाथ न हो तो बेकार है इसलिए फुजी फ्लिम वालो ने पेश किया है एक अदभुतकैमरा आओ जाने इसकी खासियत के बारे में अब एक क्लिक पर पैट की तस्वीरें चेहरे पर मुस्कान नहीं तो तस्वीर नहीं उतरेगी वाली तकनीक के कैमरों के बाद फुजी फिल्म ने कुत्तों और बिल्लियों की आसानी से फोटो लेने वाला अत्याधुनिक कैमरा आज बाजार में उतारा है। फुजीफिल्म इंडिया के प्रबंध निदेशक केरिशी टनाका फुजीफिल्म के 14 नए कैमरे पेश करते हुए एफ 80 ईएक्सआर माडल भी पेश किया जिसमें पालतू जानवरों की तस्वीर लेने के शौकीन लोगों को अब दिक्कत नहीं होगी। 

उन्होंने कहा कि पालतू जानवरों की पहचान करने वाली तकनीक का यह पहला कैमरा है। कुžो बिल्ली को देर तक स्थिर बैठाए रखना कठिन है और इस वजह से उनकी फोटो लेना आसान नहीं होता इसलिए कंपनी ने पेट डिटेक्शन फीचर विकसित कर कुत्ता बिल्लियों की तस्वीर खींचने के लिए अत्याधुनिक तकनीक वाला कैमरा जारी किया है। 

उन्होंने कहा कि यह तकनीकी फेस डिटेक्शन तकनीक की तरह काम करती है लेकिन फिलहाल इसमे सामने से सही तस्वीर लेने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि इसमें कुत्ता और बिल्ली दो मोड हैं और कैमरामैन अपने मन पसंद के मोड पर जाकर अपने प्रिय जानवर की अच्छी तस्वीर उतार सकता है।


उन्होंने कहा कि कंपनी ने बेहद चर्चित फेस डिटेक्शन तकनीकी की मदद से चेहरे पर मुस्कान का पता चलते ही कैमरे का स्माइल एंड शूट मोड अपना कमाल दिखाना शुरू कर देता है। इस तकनीक वाले कैमरे से चेहरे पर मुस्कान नहीं होने की स्थिति में तस्वीर नहीं उतारी जा सकती है। 

उन्होंने कहा कि इसकी एक खूबी ब्लिंक डिटेक्शन है जो तस्वीर खींचते समय पलकें झपकने पर सचेत कर देती है और फिर उसकी जगह दूसरी तस्वीर ली जा सकती है। इस मौके पर कंपनी के महाप्रबंधक ए राजकुमार ने कहा कि कंपनी ने भारती बाजार को ध्यान में रखेते हुए अपने कैमरों के 14 नए माडल पेश किए हैं जिनमें सबसे महंगा एफ 80 मॉडल 17999 रूपए तथा एवी100 मॉडल की कीमत 4999 रूपए है। उन्होंने कहा कि कैमरों की बिक्री के लिहाज से भारत एक महत्वपूर्ण बाजार है और उपभोक्ताओं की रूचि को देखते हुए यहां नवीनतम तकनीकी के कैमरे लांच किए गए हैं।

Recent Posts