Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Friday, January 22, 2010

सौर मंडल के बाहर भी है बहुत ग्रह


"आज के समय में अन्तरिक्ष में दिन प्रतिदिन नई नई खोजे हो रही है । इसी ही एक खोज स्विट्जर्लैंड के वैज्ञानिको ने भी की है आओ जाने इस खोज के बारे में । स्विट्जर्लैंड के वैज्ञानिको ने हमारे सौर मंडलों के बाहर ३२ ग्रह की घोषणा की है। इनमे प्रथ्वी के आकार से पांच गुना बड़े ग्रह भी शामिल है। "


इतना ही नहीं बल्कि ब्र्हश्पति गृह से भी बड़े ५ से दस गुना ग्रह भी शामिल है .इन ग्रहों की खोज दक्ष्णि अमेरिकी देश चिली की एक वेधशाला में ३.६ मीटर दूरबीन से की गयी है। इस दूरबीन में लगे सवेंदनशील उपकरणों से इन ग्रहों की पहचान हो सकी है। इस खोज से ये उमीद लगायी जा रही है की हामारी आकाशगंगा में छोटे छोटे अनेक ग्रह हो सकते है । 


स्विट्जर्लैंड के जेनेवा के स्टीफन उदरी ने बताया की सूर्य जैसे कम से कम ४०% तारो के अनेक छोटे छोटे गृह है। इन ३२ ग्रहों के खोजे जाने के बाद हमारे सौर मंडल से बाहर ग्रहों कि गिनती ४०० हो गयी है । इन ग्रहों कि खोज कई प्रकार के खगोलीय उपकरणों और दूरबीनों के प्रयोग से हुई है लेकिन इन ३२ ग्रहों कि खोज वेधशाला में लगे दूरबीन में लगे उपकरण हफ्रस स्पेक्तोमीटर से संभव हो पाई है। हफ्रस ने १ अप्रैल को एक आकाशीय पिंड कि खोज कि जिसका आकर प्रथ्वी से २ गुना है । अब देखना ये है की मानव चाँद की तरह इन ग्रहों पर पहुच पाने में सफल होगा की नहीं।

Saturday, January 16, 2010

माइक्रोसॉफ्ट के ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 7 की खूबियां : Features of Operating System Windows 7



" विण्डोज़ 7 माइक्रोसॉफ्ट विंडोज परिवार का नवीनतम प्रचालन तन्त्र है। यह कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट द्वारा 23 अक्तूबर २००९ को जारी किया गया नया ऑपरेटिंग सिस्टम है। इसे अपने पिछले ऑपरेटिंग सिस्टम ‘विस्टा’ से ज्यादा यूज़र फ्रेंडली बनाने के लिए माइक्रोसॉफ्ट ने कई सुधार किए हैं। "


विंडोज 7 तैयार करने में इतिहास के सबसे बड़े परीक्षण कार्यक्रम का सहारा लिया गया है। माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि उसके इतिहास का यह सबसे सरल और बेहतरीन ऑपरेटिंग सिस्टम है।विस्टा की सबसे बड़ी खराबी यह है कि ये कई उत्पादों को चलाता ही नहीं है। इसके अलावा यह मेमोरी की खपत ज्यादा करता है। 


विंडोज 7 में इन समस्याओं को दूर किया गया है। विंडोज विस्टा में बार-बार आने वाले सुरक्षा सचेतक लोगों के लिए परेशानी के सबब थे। नया ऑपरेटिंग सिस्टम बनाते समय इस बात का ध्यान रखा गया है कि सुरक्षा सचेतक एक सीमा से ज्यादा न आए।


विस्टा की अपेक्षा संगनक को खोलने और बंद करने में भी यह कम समय लेता है।विंडोज 7 में विंडोज विस्टा के कुछ फीचरों को जहां बदल दिया गया है वहीं कुछ को पूरी तरह से हटा दिया गया है। इनमें क्लासिक स्टार्ट मीनू , विंडोज अल्टीमेट एक्सट्राज, इंक बाल और विंडोज कैलेंडर प्रमुख है। विंडोज विस्टा से जुड़े चार अप्लीकेशन विंडोज फोटो गैलेरी, विंडोज मूवी मेकर, विंडोज कैलेंडर विंडोज मेल को विंडोज 7 में शामिल नहीं किया गया है लेकिन ये अलग पैकेज जिसे विंडोज लाइव इसेंशियल कहा जाता है, के रूप में उपलब्ध है।

विंडोज 7 चलाने के लिए उपभोक्ता के पास 1 गीगाहर्ट्ज का प्रोसेसर और एक जीबी की मेमोरी की जरूरत पड़ेगी। यदि आप अछे से अच्च्हे कल्र्स च्हह्ते है तो आप के पास ग्राफिक्स काद होना जरुरि है।

हाई एंड मशीन से डीवीडी द्वारा विंडोज 7 को इंस्टाल करने में 15 मिनट का समय लगेगा। पी-4 में ये इंस्टालेशन करने में 25 मिनट का समय लगेगा। विंडोज 7 को पेन ड्राइव द्वारा भी इंस्टाल किया जा सकता है।
इसमें ये है कुछ नई नई खुबिया ----

विंडो टास्क बार- विंडोज 7 को ज्यादा उपयोगकर्तानुकुल बनाने की कोशिश की गई है। इससे उपयोगकर्ता सिर्फ प्रोग्राम आइकन पर क्लिक करके सभी खुले विंडो को एक साथ देख सकता है। इसके अलावा जब भी कोई उपयोगकर्ता टास्क बार में प्रोगाम आइकन पर क्लिक करेगा, वह देख पाएगा कि कितने दस्तावेज खुले हैं। यही नहीं, वह एक दस्तावेज से दूसरे पर आसानी से पहुँच कर सक्रिए कर सकता है।

जंप लिस्ट- इसकी मदद से उपयोगकर्ता को हाल ही में काम किए गए फाइलों के बारे में जानकारी मिल सकती है। इसके साथ ही इसमें वर्ड या एक्सप्लोरर खोले बगैर ही उपयोगकर्ता द्वारा ये पता लगाया जा सकता है कि इस पर आमतौर पर कौन-कौन सी साइटें खोली जाती हैं। 


कंट्रोल पैनल- कंट्रोल पैनल में कई नए फीचर्स बढ़ाए गए है, जिनमें क्लीयर टाइप टेक्स्ट ट्यूनर, डिस्प्ले कलर कैलीब्रेशन विजार्ड, रिकवरी, ट्रबलशूटिंग, वर्कस्पेस सेंटर, क्रिडेंशिएल मैनेजर, बायोमैट्रिक डिवाइस, सिस्टम आइकन और डिस्प्ले शामिल है। टचस्क्रीन- विंडोज 7 में उपयोगकर्ता को टचस्क्रीन की सुविधा प्रदान की गई है। उपयोगकर्ता को फोल्डर और कंट्रोल प्रोग्राम सेलेक्ट करने के लिए माउस की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इसमें खोज का काम तेज गति से किया जा सकता है। ब्राउज करना पहले से अधिक आसान है।बेहतर नेटवर्क- वाई-फाई, मोबाइल ब्राडबैंड कारपोरेट वीपीएन आदि मौजूद नेटवर्क को सिर्फ एक क्लिक की सहायता से खोला जा सकता है।डिवाइस के अनुकूल- इसकी मदद से कैमरा, प्रिंटर आदि को आसानी से जोड़ा जा सकता है। ड्राइवर की कम आवश्यकता- विंडोज 7 में अधिकांश ड्राइवर इंस्टाल है।

विंडोज 7 बाजार में छह संस्करण में उपलब्ध होगा, पर ज्यादातर देशों में खुदरा में इसके होम और प्रीमियम एडीशन ही उपलब्ध होंगे। माइक्रोसॉफ्ट विंडोज 7 प्रीमियम का परिवार पैक ऑफर कर मनोज है, जिसे तीन कंप्यूटरों में इंस्टाल किया जा सकता है। विंडोज 7 के होम बेसिक एडीशन की कीमत 5,899 रुपए रखी गई है जबकि इससे उन्नत संस्करण विंडोज 7 अल्टीमेट का मूल्य 11,799 रुपए है।


Thursday, January 7, 2010

आओ जाने नासा के एल क्रोस मिशन के बारे में


"आज के युग में प्रथ्वी पर मानव जिस तरह से चाँद की और अपने कदम बड़ा रहा है उससे लगता है की एक दिन वह दुनिया जरूर बसेगी। इतना ही नहीं बल्कि आज के समय में वैज्ञानिक चाँद पर खनिज संस्थानों की खोज भी कर रहा है ताकि उनको धरती पर लाकर उनका प्रोयोग किया जा सके।"


 आओ बात करते है दुनिया की सबसे बड़ी अन्तरिक्ष अगेंच्य नासा की अमेरिका चन्द्र अन्वेंसन के प्रय्तोगो के लिए पहले से ही परषिद रहा है। अमेरिका की अन्तरिक्ष अगेंच्य नासा के वैज्ञानिको ने अपना ऍम ३ यंत्र का उपयोग भारतीय चंद्रयान-१ मिसन में किया था । अमेरिका की भरता के साथ इस सजेदारी के बाद अमेरिका ने अपना स्वंत्रत मिसन अल क्रोस भी प्रक्षेपित किया ।




अल-क्रोस नासा का रोबोटिक्स अन्तरिक्ष यान था। जिसको अन्तरिक्ष में एक अन्य रोबोटिक्स अन्तरिक्ष यान अल आर ओ के साथ १८ जून २००९ को प्रक्षेपित किया गया था । इस रोबोटिक्स यान ने चाँद के निकट साउथ धुर्वो के समीप अब तक के सात ठन्डे स्थानों के रूप में नामाकिंत किया है। ये सभी उपग्रह एटलस बी रोकेट पर केप वायुसेना स्टेशन से प्रक्षेपित किये गए थे। 

वैसे तो एल्क्रोस मिसन का उदेश्य चाँद की साथ पर पानी का पता लगाना था । इस एल्क्रोस मिसन के प्रमुख भाग शेफेर्डिंग स्पेस क्राफ्ट और सन्तार रोकेट थे .९ अक्टूबर २००९ को सन्तार स्टेज रोकेट तथा उसके चार मिनट बाद शेफेर्डिंग रोकेट चाँद के साउथ ध्रुव के समीप स्थित किबिय्स क्रेटर से टकराए । पानी की तलाश में हुई इस जबरदस्त टक्कर के कारन चाँद की साथ पर धुल का गुबार बन गया । इन तक्कारो से चटाने टूट गयी और काफी ऊपर तक मिटटी हो गयी थी। शेफेर्डिंग यान ने में लगे हुए कैमरों से इसके फोटोस लिए गए इसको प्रमुख उदेश्य धुल के गुबार में पानी का पता लगाना और अन्य जल सामग्री का पता लगाना था ।

Recent Posts